June 22, 2024





संवाददाता।
कानपुर। नगर मे पिछले 48 घंटे के अंदर अलग-अलग जगहों पर 24 शव मिले हैं। तीन दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी में लू लगने से मौत की आशंका जताई जा रही है। हालांकि सभी का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा। अभी मौत का सही कारण स्पष्ट नहीं है। अभी तक 24 शवों में पुलिस तीन मृतकों की शिनाख्त ही कर सकी है। झकरकटी बस अड्‌डे में रोडवेज बस में बैठे-बैठे कानपुर देहात भोगनीपुर में तैनात दरोगा राजुल प्रसाद शुक्ला (56 वर्ष) की मौत हो गई थी। परिजनों के मुताबिक, पिता को किसी तरह की कोई भी बीमारी नहीं थी। नौबस्ता विराटनगर चौकी क्षेत्र में गुरुवार दोपहर एक अधेड़ का शव मिला। मृतक की जेब में मिले आधार कार्ड से पुलिस ने उसकी शिनाख्त रविदास पुरम गुजैनी निवासी संतोष कुमार (58 वर्ष) पुत्र टप्पू लाल के रूप में की। पुलिस ने परिजनों को सूचना देने के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

नौबस्ता थाना क्षेत्र के आवास विकास हंसपुरम में दोपहर में एक शव मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त बाबूपुरवा खटिकाना निवासी संतोष दिवाकर (42 वर्ष) के रूप में की। संतोष सब्जी की फेरी लगाता था। पुलिस के मुताबिक, संतोष गुरुवार को मछरिया निवासी अपने भांजे दीपू दिवाकर के घर गया था। वहां से लौटते समय वह अचानक से अचेत होकर गिर पड़ा और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे परिजनों ने बताया कि संतोष शराब का लती था। शहर के 16 थानों में बीते दो दिनों के अंदर शव मिले है। गोविंद नगर में 38 वर्षीय व 45 वर्षीय पुरुष का शव मिला। हरबंश मोहाल में 52 वर्षीय व 57 वर्षीय पुरुष को दो शव अलग-अलग स्थान पर मिले। इसी तरह गोविंद नगर में 45 वर्षीय अधेड़. कलक्टरगंज में 50 वर्षीय, बिठूर में 45 वर्षीय, काकदेव में 45 वर्षीय, बाबूपुरवा के झकरकटी बस अड्डे में 30 वर्षीय, रेलबाजार में 45 वर्षीय, चकेरी में 58 वर्षीय पुरुष का शव मिला है। फजलगंज में 62 वर्षीय, 60 वर्षीय पुरुष का और एक 60 वर्षीय महिला का अज्ञात शव अलग-अलग क्षेत्र में मिला। ककवन थाना क्षेत्र में 16 वर्षीय युवती का शव मिला। कोहना में 27 वर्षीय युवक, जूही में 36 वर्षीय, मूलगंज में एक 50 वर्षीय और दूसरा 55 वर्षीय अधेड़ का शव मिला। इसी तरह महाराजपुर थाना क्षेत्र में 48 वर्षीय, गुजैनी में 30 वर्षीय और सचेंडी में 25 वर्षीय युवक का शव पुलिस को मिला। 24 घंटों में एक साथ इतने शव मिलने की वजह से इनके रखने की समस्या खड़ी हो गई है। पोस्टमार्टम हाउस  में रेडक्रास सोसाइटी द्वारा दिया गया एक मात्र डीपफ्रीजर पिछले सप्ताह से खराब पड़ा है। भीषण गर्मी की वजह से शवों से उठने वाली सड़ांध से पूरे पोस्टमार्टम हाउस के साथ ही इसके पीछे एलएलआर अस्पताल के मेडिसिन वार्ड तक दुर्गंध से बुरा हाल हो गया है। वहीं चार अन्य लोग भी असमय काल के गाल में समा गए। कानपुर का पारा 47.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था। ऐसी गर्मी में बुजुर्ग हो या जवान सभी की हालत खराब है। यदि शरीर में पानी की कमी हुई या शारीरिक क्षमता कमजोर हुई तो धूप जल्दी अटैक करेंगी। चिकित्सकों के मुताबिक यदि धूप में निकलते है तो पूरे शरीर को ढ़क कर रखे। खास कर सिर को जरूर ढके, ताकि सिर पर सीधी धूप न लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *