?> शादी का झांसा देकर 10 महीने तक दरोगा ने किया शारारिक शोषण। » Azad Samachar

शादी का झांसा देकर 10 महीने तक दरोगा ने किया शारारिक शोषण।

संवाददाता।
कानपुर। नगर मे दरोगा ने युवती से शादी का झांसा देकर 10 महीने तक रेप किया। बाद में युवती जब शादी का दबाव डालने लगी, तो जान से मारने की धमकी दी। कहा कि अब तू मेरे पास न आया कर, पास आई तो जान से मार दूंगा। इसके बाद युवती ने दरोगा के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज कराई। युवती का कहना है कि फेसबुक से दरोगा ने  चैटिंग शुरू की। धीरे-धीरे चैटिंग में उसने खुद को कुंवारा बताते हुए प्यार का इजहार कर जाल में फंसा लिया। शादीशुदा होने के बाद भी खुद को अविवाहित बताया। शारीरिक संबंध बनाए। बिठूर में रहने वाली युवती ने बताया कि पुलिस लाइन में तैनात दरोगा सचिन कुमार मोरल ने शादी का झांसा देकर उससे दोस्ती की थी। इसके बाद उसे हरबंशमोहाल के लोकमन मोहाल तिलियाना घंटाघर पर अपने कमरे में ले जाकर रेप किया। इस दौरान कई बार अपनी मां से भी फोन पर बात करके शादी का भरोसा दिलाया। कहा कि तुम मेरी ही घर की बहू बनोगी। 10 महीने तक जबरन शादी का झांसा देकर रेप करता रहा। शादी का दबाव बनाने पर मुकर गया। इसके बाद कहा ज्यादा बोली, तो तुझे मार दूंगा। युवती ने कहा कि मेरे पिता का निधन हो चुका है। मेरे घर एक बूढ़ी मां और बड़ी बहन रहती हैं।दोनों की मेरे ऊपर ही जिम्मेदारी है। इसके बाद भी दरोगा का कलेजा नहीं पसीजा। उसने युवती से कहा कि अगर अब दोबारा फोन किया या किसी भी तरह से संपर्क करने का प्रयास किया तो तुझे जान से मार दूंगा। युवती ने मामले में पुलिस कमिश्नर अखिल कुमार के सामने पेश होकर पूरे मामले की जानकारी दी। हरबंशमोहाल थाना प्रभारी विक्रम सिंह ने बताया कि पुलिस कमिश्नर के आदेश के बाद आरोपी दरोगा सचिन कुमार मोरल और धमकी देने वाली महिला अभिलाषा तिवारी के खिलाफ रेप और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है। युवती ने बताया कि दरोगा सचिन मोरल का पत्नी से विवाद चल रहा है। पत्नी ने भी दरोगा के ऊपर केस कर रखा है। इन सभी बातों को छिपाकर दरोगा ने झांसे में लिया था। दरोगा के खिलाफ रेप की एफआईआर दर्ज होने के बाद उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई के लिए एक रिपोर्ट भेज दी गई है। जल्द ही दरोगा को सस्पेंड किया जाएगा। युवती ने पुलिस कमिश्नर को शिकायत करते हुए कहा कि अगर मेरी रिपोर्ट नहीं लिखी गई तो मैं कुछ भी कर लूंगी। मेरे जीवन को खतरा भी है। इस पर पुलिस कमिश्नर अखिल कुमार ने रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस से जवाब तलब भी कर लिया। आखिर रिपोर्ट लिखने में इतनी देरी क्यों हुई। इस दौरान दरोगा सचिन को हरबंस मुहल से लाइन हाजिर करके पुलिस लाइन में ट्रांसफर कर दिया गया । रिपोर्ट दर्ज होने की सूचना मिलते ही दारोगा अंडरग्राउंड हो गया है। ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर हरिश्चंद्र का कहना है कि एक लड़की ने दरोगा पर शादी के नाम पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज करके जांच की जा रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *