?> सपा विधायक और कांग्रेस प्रत्याशी समेत 205 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज । » Azad Samachar

सपा विधायक और कांग्रेस प्रत्याशी समेत 205 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज ।

संवाददाता।

कानपुर। नगर की पनकी पुलिस ने ईद पर सपा नेता की अरेस्टिंग के खिलाफ थाने का घेराव और हंगामा करने वाले सपा विधायक अमिताभ बाजपेई और गठबंधन लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्रा समेत 205 कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफ़आइआर  दर्ज की है। ईद पर सपा नेता सम्राट विकास यादव की अरेस्टिंग को लेकर अमिताभ बाजपेई और आलोक मिश्रा ने सैकड़ों समर्थकों के साथ पनकी थाने का घेराव किया था। इस दौरान अमिताभ बाजपेई ने कहा था कि औकात हो तो रामनवमी में ऐसा करके दिखाओ। सपा विधायक का यह विडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। अब मामले में पनकी थाने की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है। ईद पर सपा नेता सम्राट विकास यादव ने अर्मापुर ईदगाह में नमाजियों के लिए पानी, लस्सी का स्टॉल लगाया था। पुलिस ने स्टॉल पर अखिलेश यादव और सम्राट की फोटो वाला बैनर लगा होने पर आचार संहिता का उल्लंघन और नमाजियों को सड़क पर नमाज पढ़ने के लिए भड़काने के आरोप में सम्राट को अर्मापुर थाने की पुलिस ने अरेस्ट कर लिया था। अर्मापुर थाने पर बवाल की आशंका पर सम्राट को पनकी थाने में रखा गया था। इधर सपा नेता के अरेस्टिंग की खबर फैलते ही सपा विधायक अमिताभ बाजपेई और इंडिया गठबंधन के प्रत्याशी आलोक मिश्रा सैकड़ों समर्थकों के साथ पनकी थाने पहुंच गए थे। इस दौरान सपा विधायक की पहले तो थानेदार मानवेंद्र सिंह और फिर एसीपी टीबी सिंह से जमकर बहस हुई थी। अमिताभ बाजपेई ने पुलिस को चुनौती देते हुए कहा था कि औकात हो तो राम नवमी पर इस तरह की कार्रवाई करके दिखाओ। विशेष धर्म समुदाय और पार्टी का झंडा देखकर पुलिस कार्रवाई कर रही है। करीब दो घंटे  थाने पर हंगामा-बवाल के बाद सपा नेता को जमानत पर छोड़ा गया था।मामले में पनकी थाने की पुलिस ने अब शनिवार देर रात सपा विधायक अमिताभ बाजपेई, गठबंधन के प्रत्याशी आलोक मिश्रा समेत 205 कार्यकर्ताओं के खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। सपा विधायक समर्थकों के साथ पनकी थाने पहुंचे। वहां उनकी एसीपी टीबी सिंह से बहस हो गई। सपा विधायक ने एसीपी से कहा कि वीडियोग्राफी में दिखाइए कि ऐसी बदतमीजी सपा नेता सम्राट ने की है। अगर पुलिस ने किसी से बदतमीजी की है तो उसने टोका है तो हम बार-बार टोकेंगे। हर बार कहेंगे। चाहे हमें जेल क्यों न जाना पड़े। उन्होंने कहा कि अगर आप बदतमीजी करेंगे तो हम टोकेंगे। इस दौरान कांग्रेस नेता आलोक मिश्रा ने कहा कि भाई टोकने में तो कोई अपराध नहीं बनता है। इसके बाद फिर पुलिस अफसर से अमिताभ बाजपेई ने कहा कि आप क्यों किसी से बदतमीजी से बात करेंगे। आपकी औकात हो तो रामनवमी में करके दिखाना। देखेंगे यही डीसीपी होंगे। हम देखेंगे आपकी हैसियत। अमिताभ बाजपेई ने पुलिस अफसर से कहा कि आप धर्म के आधार पर भेदभाव करेंगे। झंडे के आधार पर उसे अपराधी बना दिया। क्योंकि वो सपा का है। अगर आप उसे गिरफ्तार करेंगे तो हमें भी अरेस्ट कीजिए। इस दौरान आलोक मिश्रा ने कहा कि हम लोग छुड़वाने नहीं आए हैं। हम लोगों को भी उसी अपराध में बंद कर दीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *