June 22, 2024

संवाददाता।

कानपुर। नगर में उत्तर प्रदेश के महाविद्यालयों में बीएड में दाखिला लेने के लिए रविवार को शहर के 14 सेंटरों पर परीक्षा आयोजित की गई है। परीक्षा को सकुशल और पारदर्शी ढंग से संपन्न कराने के लिए शनिवार को अधिकारियों ने तैयारियों की समीक्षा की और परीक्षा केंद्रों का हाल भी जाना । यह परीक्षा दो पालियों में संपन्न कराई जा रही है। इसमें 7081 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे। पहली पाली की परीक्षा संपन्न होने पर  परीक्षा केंद्र से बाहर निकले देवेंद्र ने बताया कि इंग्लिश के सवाल काफी अच्छे थे, लेकिन जीएस के सवाल थोड़े  कठिन थे। हालांकि सभी कुछ करंट अफेयर से आया था। इसलिए ज्यादा दिक्कत नहीं हुई। रोहित ने कहा कि एवरेज पेपर आया था। इसमें ज्यादा कठिन या फिर ज्यादा सरल नहीं कहा जा सकता है, जिसने भी पढ़ाई की है उसको पेपर करने में ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा होगा, जिसमें की इंग्लिश काफी सरल थी और जीएस के करीब 5 से 6 क्वेश्चन करंट अफेयर से थे। बाकी कुछ क्वेश्चन थोड़े कठिन थे। शबाना ने कहा कि जीएस का पेपर थोड़ा कठिन लगा क्योंकि उसमें करंट अफेयर के साथ-साथ और भी चीज पूछ ली गई थी। बाकी इंग्लिश, हिंदी के क्वेश्चन सरल थे। पेपर देने में ज्यादा कठिनाई नहीं हुई। कानपुर विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ. अनिल कुमार यादव ने बताया कि कानपुर शहर में कुल 14 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इसमें कुल 7081 प्रतिभागी पंजीकृत हैं, जो परीक्षा देंगे। परीक्षा दो पालियों में होगी  । पहली पाली सुबह 9 से 12 बजे तक है और दोपहर 2 से 5 बजे के बीच संपन्न होगी। वहीं, एडीएम सिटी ने बताया कि परीक्षा बुंदेलखंड विश्वविद्यालय द्वारा कराई जी रही है। इसमें सुरक्षा के त्रिस्तरीय इंतजाम किए गए हैं। परीक्षा केंद्र के चारों तरफ कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। सभी एसीएम को केंद्र प्रतिनिधि के रूप में तैनात किया गया है। दो सेंटर पर एक केंद्र प्रतिनिधि और 14 स्टेटिक मजिस्ट्रेट मुस्तैद रहेंगे। हर केंद्र की निगरानी एक पर्यवेक्षक करेगा। शहर के महिला महाविद्यालय पीजी कॉलेज, ब्रह्मानंद कॉलेज, क्राइस्टचर्च कॉलेज, एसएन सेन कॉलेज, अर्मापुर पीजी कॉलेज, सीएसजेएमयू कैम्पस स्थित स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज, डीएवी कॉलेज, डीजी पीजी कॉलेज, हरसहाय डिग्री कॉलेज, पीपीएन कॉलेज, वीएसएसडी कॉलेज, दयानंद वूमेंस ट्रेनिंग कॉलेज और सीएसजेएमयू कैम्पस स्थित स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी ए और बी परिसर को सेंटर बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *