?> गरज-चमक, ओले और तेज आंधी के साथ बरसात। » Azad Samachar

गरज-चमक, ओले और तेज आंधी के साथ बरसात।

संवाददाता।

कानपुर। प्रदेश में मौसम का मिजाज बदल रहा है। आज 26 जिलों में बारिश का अलर्ट है। मौसम विभाग ने बताया था कि गरज-चमक और तेज आंधी के साथ बरसात हो सकती है। आने वाले 5 दिनों तक ऐसा ही मौसम रहेगा। कई इलाकों में ओले भी गिर सकते हैं।मंगलवार की बात करें तो शाम को कानपुर और उन्नाव में धूल भरी आंधी के साथ बूंदाबांदी भी हुई। आज शाम को गरज के साथ मूसलाधार बारिश और ओले भी गिरे कुछ देर के लिए यातायात भी ठप हो गया था वही 41.5 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ कन्नौज सबसे गर्म रहा। जिन जिलों में बारिश का अलर्ट है। उनमें आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, औरैया, जालौन, कानपुर देहात, कानपुर नगर, हमीरपुर, झांसी, ललितपुर, महोबा, फतेहपुर, बांदा, चित्रकूट, कौशांबी, प्रयागराज, जौनपुर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, गाजीपुर, भदोही, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र में शामिल है। सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, औरैया, जालौन, कानपुर देहात, कानपुर नगर, उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी, अयोध्या, फर्रुखाबाद, अंबेडकरनगर, सुल्तानपुर, अमेठी, रायबरेली, हमीरपुर, झांसी, ललितपुर, महोबा, फतेहपुर, बांदा, चित्रकूट, कौशांबी, प्रयागराज, मिर्जापुर, जौनपुर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, गाजीपुर, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र। कानपुर की सीएसए यूनिवर्सिटी के कृषि मौसम विज्ञानियों ने किसानों के लिए एडवाइजरी जारी की है। इसके बताया गया है कि किसान गर्मी में अपनी फसल में हर हाल में 12-13 परसेंट तक नमी बनाए रखें। अगर उनके क्षेत्र का तापमान सामान्य स्तर से अधिक हो, तो खेतों में हल्की सिंचाई भी करते रहें। सीएसए यूनिवर्सिटी के मौसम विज्ञानी डॉ.एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि इस बार मार्च महीना सबसे गर्म रहा। इसकी वजह से यह पिछले साल जून के बाद से लगातार 10वां महीना है, जब तापमान ने नया रिकॉर्ड बनाया है। ये औसतन 1.5 डिग्री को पार कर गया है। 12 महीनों (अप्रैल 2023-मार्च 2024) में औसत तापमान सबसे अधिक दर्ज किया गया है, जो साल 1991-2020 के औसत से 0.73 डिग्री सेल्सियस अधिक और 1850-1900 पहले औसत तापमान से 1.58 डिग्री सेल्सियस ज्यादा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *