?> हास्य कलाकार अन्नू अवस्थी की भाभी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी पिछले 10 सालों से थी डिप्रेशन में। » Azad Samachar

हास्य कलाकार अन्नू अवस्थी की भाभी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी पिछले 10 सालों से थी डिप्रेशन में।

संवाददाता।
कानपुर। नगर मे जाने-माने हास्य कलाकार अन्नू अवस्थी की भाभी रीता अवस्थी (60 वर्ष) ने अपने घर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बहू जब कमरे में गई तो अंदर से दरवाजा बंद था। इसके बाद उसने घटना की जानकारी परिवार को दी। परिवार के अन्य सदस्य मौके पर पहुंचे और लोहे की रॉड से गेट तोड़ने के बाद शव को फंदे से नीचे उतारा, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। काकादेव निवासी अन्नू अवस्थी के बड़े भाई अरुण अवस्थी हॉस्टल संचालक है । वह घर की पहली मंजिल में रहते है। परिवार में पत्नी रीता अवस्थी (60 वर्ष), बड़ा बेटा मानस, छोटा बेटा जीतू शशांक अवस्थी, बहू श्वेता और डेढ़ साल की नातिन है। मानस कनाडा में जॉब करता है। वर्तमान में वह वहीं पर है। छोटा बेटा जीतू शशांक कोऑपरेटिव बैंक में क्लर्क के पद पर है। शशांक की पत्नी श्वेता घर पर ही रहती है। अन्नू अवस्थी के मुताबिक आज सुबह भाभी रीता भाई साहब (अरुण अवस्थी) को नास्ता देने के बाद कमरे में चली गई थी। भाई साहब किसी काम से बाहर चले गए थे। श्वेता अपने काम में व्यस्त थी और नातिन कमरे के बाहर खेल रही थी। इसी बीच श्वेता ने देखा की कमरे का पंखा बंद है। श्वेता कमरे की तरफ गई तो अंदर से गेट बंद था। श्वेता ने आवाज लगाई लेकिन अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद उसने घटना की जानकारी अपने ससुर अरुण और चचिया ससुर अन्नू अवस्थी को दी। घटना की जानकारी मिलते ही अरुण घर पहुंचे। थोड़ी ही देर बाद अन्नू अपनी पत्नी गुडि्यां के साथ पहुंच गए। अरुण ने खिड़की से झांक कर अंदर देखा तो उनके होश उड़ गए। इसके बाद घर वालों ने लोहे की रॉड से दरवाजा तोड़कर शव को फंदे से नीचे उतारा। इसके बाद रीता को लेकर पास के निजी अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं घटना के बाद परिवार वालों के बीच कोहराम मच गया। इधर रिश्ते नातेदारों का भी घर में तांता लग गया। परिवार के लोगों ने बताया कि पिछले 10 सालों से रीता डिप्रेशन में थी। शहर के प्रतिष्ठित चिकित्सक से उनका उपचार भी चल रहा था। सुबह वह अपनी नातिन के साथ कमरे में खेल रही था, लेकिन कुछ ही देर बाद उन्होंने ऐसा कदम उठा लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद पंचायतनामा की कार्रवाई शुरू करने की बात कही, लेकिन परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया। काकादेव इंस्पेक्टर काली शंकर गौड़ ने बताया कि परिवार के लोग पोस्टमार्टम कराने को तैयार नहीं है, इसलिए उन्होंने लिखित में दे दिया है। अन्नू अवस्थी ने बताया कि भाभी डिप्रेशन में रहती थी। इसको देखते हुए बड़े बेटे मानस ने कुछ दिन पहले ही लैपटॉप भी बुक कराया था। बेटे से  कहा था कि थोड़ा समय इसमें बिताऊंगी तो दिमाग फ्रेश रहेगा और मन बहलेगा। किसी को क्या पता कि उनके मन में क्या चल रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *