June 21, 2024

संवाददाता।
कानपुर। नगर में कटरी घारमखेड़ा गांव में रहने वाले युवक का बुधवार को उन्नाव के शुक्लागंज चंपापुरवा में गंगा में शव मिला था। परिजनों ने रंजिश में हत्या करके शव गंगा में फेंकने का आरोप लगाया है। ग्वालटोली थाने की पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर एफआईआर दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है। ग्वालटोली क्षेत्र के कटरी स्थित घारमखेड़ा गांव निवासी शिवा निषाद ने बताया कि उनका चचेरा भाई नरेन्द्र (35 वर्ष) उनके पड़ोस में ही रहता है। सावन में नरेन्द्र के साथ मिलकर बालू की मूर्ति बनाकर भंडारा करते थे। जिसका पड़ोस के देवनीपुरवा गांव निवासी प्रधान पुत्र रवि, दीपक, अंकित व उनके साथी विरोध करते थे। शिवा का कहना है कि नरेन्द्र अच्छी मूर्तियां बनाता था इस वजह से आरोपित रंजिश रखते थे। कई बार उसके साथ मारपीट और धमकी भी दे चुके थे। शिवा का आरोप है कि सोमवार को पिन्टू मूर्ति बनवाने में सहयोग करने की बात नरेन्द्र को साथ ले गया। उसे ले जाते हुए नीरज और अनुज ने भी देखा। घटना के बाद से नरेन्द्र का पता नहीं चला तो उन्होंने ग्वालटोली थाने में तहरीर दी। बुधवार दोपहर नरेन्द्र का शव शुक्लागंज के चंपापुरवा स्थित ट्रांसमिशन टावर के पास गंगा में उतराते मिला था। गंगाघाट थाने की पुलिस ने शव को निकलवाकर परिजनों को सूचना दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गुरुवार को डूबने से मौत की पुष्टि हुई। शिवा निषाद ने आरोपितों पर नरेन्द्र की हत्या का शव को गंगा में फेंकने का आरोप लगाते हुए ग्वालटोली थाने में तहरीर दी है। पीड़ित का कहना है कि घटना के बाद से सभी आरोपित अपने घरों से फरार हैं। एसीपी कर्नलगंज मो. अकमल खा ने बताया कि चचेरे भाई की तहरीर पर आरोपितों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्जकर मामले की जांच की जा रही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News