June 20, 2024

संवाददाता।
कानपुर। नगर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की स्त्री व प्रसुति रोग विभाग की डॉक्टर ने एक महिला के पेट से करीब 35 से भी अधिक ट्यूमर निकाले है। पीड़िता पिछले कई महिनों से पेट की समस्या के परेशान चल रही थी। जिसने दो माह पूर्व ही मेडिकल कॉलेज के जच्च-बच्चा विभाग की ओपीडी में डॉक्टरों को दिखाया। स्त्री रोग विभाग की डॉ. सीमा द्विवेदी ने बताया कि महिला के पेट में बच्चेदानी में 35 से अधिक ट्यूमर थे, जिससे कारण उसको काफी रक्त स्त्राव हो रहा था। उस महिला का अल्ट्रसाउंड कराया गया तब उसकी रिपोर्ट देखकर डॉक्टर भी हैरान हो गए। इसके बाद महिला को तत्काल ऑपरेशन कराने की सलाह दी गई। डॉ. सीमा की टीम ने आप्रेसन करके सभी ट्यूमर को निकल दिया और महिला अब बिल्कुल स्वस्थ है। नवाबगंज निवासी 30 वर्षीय महिला पेट दर्द की समस्या से करीब एक साल से परेशान थी। कभी-कभी दर्द बहुत अधिक हो जाता था कि वह रात को सो तक नहीं पाती थी। महिला ने निजी अस्पतालों में इलाज कराया, लेकिन उसे दर्द से राहत नहीं मिल सकी। करीब दो माह पहले इलाज कराने वह जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के जच्चा-बच्चा अस्पताल पहुंची। यहां पर पहले स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ की डॉ.प्रतिमा वर्मा ने महिला की जांच कराई। पता चला कि महिला एनीमिया से ग्रस्ति है। महिला की पहले खून की जांच की गई तो देखा गया कि उसका हीमोग्लोबिन घटते हुए साढ़े छह ग्राम ही बचा है। इसके बाद अन्य जांच कराने पर बच्चेदानी पर कुछ गांठे भी मिली। इसके बाद पता चला कि यह गांठ ट्यूमर बन चुकी है।डॉ. सीमा द्विवेदी के मुताबिक दवा व इंजेक्शन के माध्यम से महिला के हीमोग्लोबिन में के स्तर को बढ़ाया गया। डॉ.प्रतिमा वर्मा, डॉ.सीमा द्विवेदी, डॉ.मोनिका, डॉ.साधना, डॉ.शिवांगी व डॉ. शिखा ने मिलकर महिला का ऑपरेशन कर सभी ट्यूमर को निकाले। महिला भी अब पहले से काफी स्वस्थ है और मात्र एक यूनिट ही खून की जरूरत उसे पड़ी। डॉ.प्रतिमा वर्मा ने बताया कि महिला की बच्चेदानी में हुए ट्यूमर का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News