June 21, 2024

संवाददाता।
कानपुर।
नगर में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. आलोक रंजन ने कांशीराम जिला संयुक्त चिकित्सालय एवं ट्रॉमा सेंटर पर सघन मिशन इंद्रधनुष 5.0 अभियान के दूसरे चरण के शुभारंभ समारोह में बताया कि पांच वर्ष तक के बच्चों और गर्भवती के सुरक्षित भविष्य के लिए टीकाकरण जरूरी है। टीकाकरण के प्रति उदासीन परिवारों को जागरूक होना जरूरी है। उन्हें भी जानकारी हो कि सभी टीके पूर्ण रूप से सुरक्षित हैं। यह टीके बच्चों को 11 जानलेवा बीमारियों से तो बचाते ही हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता का भी विकास करते हैं। साथ ही कहा कि टीकाकरण से वंचित बच्चों व गर्भवती का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। सम्पूर्ण टीकाकरण (फूल इम्यूनाइज़ेशन) प्रत्येक बच्चे का अधिकार है। सभी आवश्यक टीके समस्त सरकारी अस्पतालों, स्वास्थ्य केन्द्रों और टीकाकरण सत्रों पर उपलब्ध हैं। इस अवसर पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एके कन्नौजिया ने कहा कि नियमित टीकाकरण अभियान में किसी कारणवश छूटे 5 वर्ष तक के बच्चों व गर्भवती को प्रतिरक्षित करने के लिए समस्त जनपद में अभियान का दूसरा चरण सोमवार (11 सितम्बर) से शुरू हुआ है। यह चरण 16 सितम्बर तक चलेगा। उन्होंने कहा कि अपने घर व आसपास के परिजनों को बच्चे के टीकाकरण कराने के लिए पीएचसी-सीएचसी जाने के लिए प्रेरित करें। कोई भी बच्चा टीकाकरण से छूटा हो तो उसे टीका अवश्य लगवाएं। इसके अलावा गंभीर स्थिति या प्रतिकूल प्रभाव से निपटने को रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) भी बनाई गई है जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि दूसरे चरण में छूटे हुए 5 वर्ष तक के कुल 7322 बच्चों व 1871 गर्भवती को टीका लगेगा। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण के लिए जनपद में शहरी क्षेत्र व ग्रामीण में कुल 807 टीकाकरण सत्र तैयार किए गए हैं। साथ ही बताया कि आईएमआई 5.0 का तीसरा चरण नौ से 14 अक्टूबर तक चलाया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News