?> गंगा के जलस्तर बढ़ने से लाखो फलदार व छायादार पौधे बहे। » Azad Samachar

गंगा के जलस्तर बढ़ने से लाखो फलदार व छायादार पौधे बहे।

संवाददाता।
कानपुर।
नगर में गंगा के जलस्तर बढ़ने से गंगा किनारे बसे गांव के लोगों को सतर्क कर दिया गया है। तहसील के अधिकारी लगातार गांवों का दौरा कर रहे है। ग्रामीणों को बाढ़ आपदा पर जागरूक भी कर रहे है। बाढ़ आने से आमजनमानस की मुश्किलें तो बढ़ा दी है। वहीं गंगा का जलस्तर बढ़ने से हरियाली भी बह गई। नरवल तहसील के डोमनपुर गंगा कटरी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। गंगा के जलस्तर बढ़ने से सरसौल वन क्षेत्र की वन महोत्सव के तहत गंगा कटरी किनारे बीते साल 2020 से अब तक कई लाख पौधे रोपित किए गए थे। लेकिन गंगा के जलस्तर बढ़ने से सभी पौधे बाढ़ की चपेट में आ गए है। कटरी में चोरों तरफ जलमग्न है। शासन के दिशा निर्देश के बाद जिला प्रशासन द्वारा लाखों पौधे फलदार व छायादार लगाए गए थे। जो कि गंगा का जलस्तर बढ़ने से पानी में डूब गए। वहीं गंगा के जलस्तर बढ़ने से डोमनपुर समेत कई गांवों की लगभग एक हजार बीघा में खड़ी फसलों में जलमग्न हो गई है। जिससे आसपास के सभी किसान परेशान है। वहीं गंगा का जलस्तर बढ़ने से पक्का रास्ता गंगा में बह गया। संपर्क मार्ग गंगा में बहने से दोनों जनपदों का संपर्क पूरी तरह से टूट गया है। वन विभाग डिप्टी रेंजर अनिल सिंह तोमर ने बताया कि गंगा के जलस्तर बढ़ने से कटरी किनारे लगे पौधे पूरी तरह से डूब गए है। वहीं पानी भरने से यूकिलिप्टस के 2 फीट के पौधे लगाए थे बाढ़ आने से सभी पौधे पानी के बहाव के साथ बह गए। अभी भी बाढ़ का पानी खेतों में लबालब भरा हुआ है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *