June 20, 2024

संवाददाता।
कानपुर। नगर मे बाबा घाट पर डूबने वाले तीनों युवकों के शवों शिनाख्त हो गई। मृतकों में कैंट से बीजेपी पार्षद प्रस्तावना तिवारी का बेटा प्रखर, भाजपा नेता शरद दुबे का इकलौता बेटा आयुष्मान और एक व्यापारी का बेटे आदर्श सिंह चंदेल शामिल है। चारों दोस्त शनिवार को फूलबाग के स्वीमिंग पूल में नहाने गए थे। बंद होने के चलते गंगा नहाने पहुंचे। ,यहां डूबकर तीनों की मौत हो गई, जबकि एक पैर में चोट लगी थी, इसलिए वो नहाने नहीं गया था। इसलिए वो डरकर भाग गया। बाद में पुलिस ने उससे पूछताछ कर छोड़ दिया। आयुष्मान दुबे की लाश देखकर मां बोली-‘मेरे लाल को एक बार दिखा तो बस…मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि वो यहां नहीं है’ पुलिस को घाट पर सिर्फ तीन जोड़ी कपड़े और तीन जोड़ी जूता-चप्पल मिला था। लेकिन, किसी की शिनाख्त नहीं हो पा रही थी। देर रात 12 बजे के बाद गोताखोरों ने तीनों के शव बरामद कर लिया। इसके बाद तीनों की शिनाख्त भाजपा के मंडल अध्यक्ष कैंट सुमित तिवारी के बेटे प्रखर तिवारी उर्फ प्रेम (18 वर्ष) के रूप में हुई। सुमित की पत्नी प्रस्तावना तिवारी कैंट के वार्ड नंबर-1 वार्ड की पार्षद भी है। बेटे के मौत की खबर मिलते ही भाजपा नेता सुमित बदहवास हो गए। पार्षद मां भी रोते-रोते बेसुध हो गईं। मृतक का छोटा भाई हर्ष भी रो-रो कर बेहाल हो गया। परिवार और नजदीकियों ने दंपति को किसी तरह संभाला। दूसरे शव की शिनाख्त कानपुर के भाजपा नेता शरद दुबे के बेटे आयुष्मान दुबे (18 वर्ष) के रूप में हुई। शरद दुबे भाजपा में कार्य समिति सदस्य और नमामि गंगे प्रोजेक्ट में पदाधिकारी हैं। मौजूदा समय में वह बस्ती में लोकसभा प्रभारी हैं। प्रत्याशी को चुनाव लड़ाने गए थे। इकलौते बेटे के मौत की खबर मिलते ही शरद आनन-फानन में कानपुर पहुंचे। शरद की पत्नी श्वेता भी बेटे के मौत की खबर सुनते ही बदहवास हो गईं। शनिवार दोपहर रोते-रोते बदहवास हो गईं। बोली-मेरे लाल को एक बार दिखा तो बस, मेरा बेटा मुझे छोड़कर नहीं जा सकता है। इसके बाद उन्हें बेटे का शव दिखाया गया। मौत की खबर से बहन गौरी, हर्षिता और हर्षिता के पति रोहन बाजपेई सभी पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। परिवार के लोगों और नजदीकियों ने किसी तरह सभी को संभाला। तीसरे शव की शिनाख्त आदर्श सिंह चंदेल उर्फ रौनक (18 वर्ष) के रूप में हुई। आदर्श के पिता राजकुमार सिंह ने पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचकर शव की शिनाख्त की। राजकुमार रेलवे की पैंट्रीकार में काम करते हैं। हादसे की जानकारी मिलते ही वह पत्नी वंदना, छोटे बेटे आलोक और अपने साले अनूप सिंह के साथ पहले बाबा घाट और फिर शनिवार को पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे। बेटे का शव देखते ही माता-पिता और परिवार के अन्य लोग बदहवास हो गए। कोई विश्वास ही नहीं कर पा रहा था कि उनका बेटा चंद घंटे पहले, तो उनके सामने था। अब वह इस दुनिया में नहीं है। तीनों मृतकों का परिवार कैंट में रहने वाला है। गंगा में डूबने वाले तीनों युवक अच्छे दोस्त थे। इसी के चलते सभी एक साथ गंगा नहाने पहुंचे। डूबने से मौत हो गई। परिवार के लोगों ने बताया कि तीनों मृतकों का मोबाइल पुलिस को जांच में नहीं मिला है। इसके साथ ही आयुष्मान की स्कूटी का भी कुछ पता नहीं चल रहा है। परिवार के लोगों ने संदेह भी जताया, लेकिन पुलिस की जांच में साफ हो गया कि कोई साजिश या हत्या नहीं है। तीनों दोस्तों की गंगा में डूबने से मौत हुई है। यह महज एक हादसा है। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से यह सब साफ हो गया। परिवार के लोगों ने भी सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद तसल्ली मिली। क्यों कि उन्हें मौके से भाग निकले दोस्त पर शक था कि उनके बेटों के साथ साजिशन तो कुछ नहीं हुआ है।कोतवाली थाना प्रभारी ने बताया कि तीनों दोस्त गंगा में नहाने उतरे थे। तीनों के हाथ में मोबाइल था। आशंका है कि तीनों गंगा में नहाने के दौरान मोबाइल से फोटो खींच रहे थे, सेल्फी ले रहे थे। इसी के चलते डूबने के दौरान तीनों के मोबाइल भी गंगा में ही डूब गए। इसके चलते तीनों के कपड़ों के साथ मोबाइल बरामद नहीं हुआ। मोबाइल भी तलाश करने के लिए गोताखोरों को लगाया गया है। डीसीपी पूर्वी श्रवण कुमार सिंह ने बताया कि घाट पर लगे सीसीटीवी कैमरे की जांच में साफ हो गया कि कोई साजिश नहीं है। सिर्फ हादसे में तीनों की गंगा में डूबने से मौत हुई है। फिर भी मौके से भागे राजवीर सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। राजवीर ने बताया कि उसका ऑपरेशन हुआ है। इसके चलते वह गंगा में उतरकर नहीं नहा सकता था। इस वजह से वह बाहर था, बाकी अन्य सभी लोग गंगा में नहाने उतर गए थे। इसकी वजह से वह बच गया। नहाने के दौरान तीनों लोग ज्यादा गहराई में उतर गए और एक डूबने लगा तो उसे बचाने में तीनों डूब गए। भाजपा नेता सुमित तिवारी व पार्षद प्रस्तावना के बेटे और भाजपा नेता शरद दुबे के बेटे के मौत की खबर सुनते ही पोस्टमार्टम हाउस में भाजपा नेताओं का मजमा लग गया। मृतकों के घर से लेकर पोस्टमॉर्टम हाउस में भाजपा नेता परिवार को सांत्वना देने पहुंचते रहे। पोस्टमार्टम हाउस भी भीड़ से खचाखच भरा हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News