July 21, 2024

कानपुर। गंगा को प्रदूषित कर रही शहर की चार टेनरियों को प्रदूषण बोर्ड के मुख्यालय ने बंदी का नोटिस थमा दिया है। आईआईटी, एसबीटीयू व सीएलआरआई की टीम के निरीक्षण में कमियां मिलने के बाद यह निर्णय प्रदूषण बोर्ड की ओर से लिया गया है। केन्द्रीय प्रदूषण बोर्ड को मिली शिकायतों में यह बताया गया था कि जाजमऊ में पाबंदियों के बावजूद टेनरी संचालक गंगा में गंदगी प्रवाहित कर रहे हैं। दो संचालक टेनरी की गंदगी को बाइपास कर सीधे गंगा और नगर निगम के वेस्ट में गिरा रहे हैं। दो संचालक की टेनरी में क्रोमियम और टीएसएस अधिक मिला है।आईआईटी रूड़की, एचबीटीयू व सीएलआरआई की टीम के औचक निरीक्षण में यह कमियां मिली हैं। प्रदूषण बोर्ड मुख्यालय ने चारों टेनरी मालिकों को नोटिस जारी किया है। जवाब संतोषजनक न होने पर टेनरियां बंद होंगी।

उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से कई इंस्टीट्यूट टेनरियों की जांच करते हैं। टीम ने जाजमऊ स्थित चार टेनरियों का औचक निरीक्षण किया। मैसर्स क्राउन टैनर्स रामराय सराय जाजमऊ में एचबीटीयू ने जांच की तो शोधित उत्प्रवाह में टीएसएस 810 मिग्रा. मिला। टेनरी का प्राइमरी ट्रीटमेंट प्लांट ठीक से काम नहीं कर रहा था। मैसर्स बबलू इंटरप्राइजेज हड्डी मिल चौराहा जाजमऊ में टेनरी की गंदगी नगर निगम के नाले में प्रवाहित की जा रही थी। मैसर्स अल मीजान टैनिंग इंडस्ट्रीज में आईआईटी रूड़की की टीम को प्राइमरी ट्रीटमेंट प्लांट के आउटलेट में टीएसएस 1392.70 मिग्रा. और टोटल क्रोमियम 20 मिग्रा. मिलौ। मैसर्स सरताज टैनर्स वाजिदपुर में टेनरी की गंदगी बिना शोधन बाइपास कर रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News