June 22, 2024

संवाददाता।
कानपुर। प्रदेश में भीषण गर्मी का कहर जारी है। रविवार को आगरा देश का दूसरा सबसे गर्म शहर रहा। यहां अधिकतम तापमान 47.7°C रिकॉर्ड किया गया। देश के टॉप-5 सबसे गर्म शहरों में यूपी के आगरा और झांसी शामिल रहे। मौसम विभाग ने आज यूपी के 29 जिलों के लिए हीटवेव का ऑरेंज और 19 जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, मंगलवार को पूर्वांचल के 10 जिलों में बारिश का अनुमान है। गाजियाबाद के डीएम ने लू को देखते हुए 8वीं तक के सभी स्कूल 20-25 मई तक बंद करने के आदेश दिया हैं। रविवार को इटावा में 3.6 मिमी. बारिश भी हुई। सीएसए यूनिवर्सिटी के मौसम विज्ञानी डॉ. सुनील पांडेय ने बताया, पश्चिम बंगाल से आने वाली नम हवाएं प्रदेश में उमस बढ़ाएंगी। आज हीटवेव की रेड अलर्ट वाली स्थिति नहीं होगी, लेकिन कई जिलों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री से ऊपर बना रहेगा। वहीं, नेपाल से लगे प्रदेश के तराई वाले इलाके गोरखपुर, शाहजहांपुर, कुशीनगर, देवरिया, बलिया, मऊ, गाजीपुर और वाराणसी समेत कई जिलों में नम हवाओं की वजह से हाई क्लाउड बन सकते हैं। इसकी वजह से स्थानीय स्तर पर कहीं-कहीं बारिश, आंधी चल सकती है। डॉ. सुनील पांडेय ने बताया, कानपुर में लगातार दूसरे दिन 29 साल का रिकॉर्ड टूटा है। 19 मई 1995 को अधिकतम तापमान 45.5 डिग्री रिकॉर्ड हुआ था। तब से अब 19 मई 2024 को 46.9 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं, बादलों की आवाजाही से तापमान में 1-2 डिग्री की राहत मिल सकती है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और उससे सटे जम्मू-कश्मीर की तरफ से आ रहा है। इससे पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश हो सकती है। यूपी में 21 मई से बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संतकबीरनगर, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर और देवरिया में बारिश के आसार हैं। आगरा रविवार को देश का सबसे गर्म शहर रहा। हालांकि सोमवार को मौसम बदल गया है। सुबह से ही बादल छाए हैं। करीब 30 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चल रही है। आंधी और बारिश के आसार बन रहे हैं। लोगों को गर्मी से राहत मिली है। मौसम विभाग का अनुमान है कि आंधी आ सकती है। सुबह 9 बजे तापमान 33 डिग्री पहुंच। हालांकि दोपहर तक पारा 46 डिग्री तक जाएगा। हीट वेब भी परेशान करेंगी, लेकिन कल से राहत रहेगी। सहारनपुर में सोमवार को दिन निकलते ही अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। सुबह 7 बजे ही 11 बजे वाली गर्मी का एहसास हो रहा है। तेज धूप और गर्म हवा के कारण 9 बजे से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। मौसम विभाग का कहना है कि दिन में तापमान 44 के पार जा सकता है। वाराणसी में सोमवार सुबह तेज धूप से लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल है। गर्म हवा लोगों के चेहरों को झुलसा रही है। सुबह करीब 9 बजे से ही सड़कों पर सन्नाटा है। बाजार वीरान पड़े हैं। वाराणसी में आज सुबह 5 बजे का तापमान 29°C से ऊपर रिकॉर्ड किया गया। वहीं, सुबह के साढ़े 8 बजे तक पारा 36°C तक पहुंच गया। हवा 9 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चल रही है। हवा में नमी 40% तक रिकॉर्ड की गई है। झांसी रविवार को प्रदेश का दूसरा सबसे गर्म शहर रहा। यहां सोमवार सुबह से ही धूप की तपिश महसूस हो रही है। 7 बजे ही हीटवेव का एहसास हो रहा है। मार्केट खुलते ही सुनसान पड़े हैं। शहर के जिन चौराहों पर जाम लगता था, वहां सन्नाटा है। सुबह 10 बजे से ही सड़कें एकदम सुनी पड़ी हैं। जिले में आज का तापमान भी 45 डिग्री के पार दर्ज होगा। मौसम विभाग के मुताबिक, जब गर्मी या लू का प्रकोप इस कदर बढ़ जाता है कि जान-माल के नुकसान का डर रहता है। तापमान 47°C को पार करने की स्थिति में होता है। उस स्थिति में रेड अलर्ट जारी किया जाता है। लोगों को सीधे तौर पर यह बताया जाता है कि मौसम बहुत खराब स्थिति में पहुंच चुका है। अब सावधान रहें। ऑरेंज अलर्ट तब जारी होता है जब गर्मी से बचने के लिए सावधानी बरतने की जरूरत होती है। इसका मतलब आने वाले दिनों में पड़ने वाली भीषण गर्मी को लेकर लोगों को पहले ही ऑरेंज अलर्ट के माध्यम से सतर्क करने की कोशिश है। इस अलर्ट में लोगों को जरूरी होने पर ही घरों से निकलने की सलाह दी जाती है। इसमें तापमान 43 से 45 डिग्री के बीच दर्ज किया जाता है। यलो अलर्ट जारी करने का मकसद लोगों को सचेत करना है। इसे मौसम विभाग की चेतावनी के तौर पर देखा जा सकता है। लोगों को सलाह दी जाती है कि आने वाले दिनों में मौसम बिगड़ने वाला है। यह अलर्ट जस्ट वॉच का सिग्नल है। इसमें अधिकतम तापमान 40 से 42 डिग्री के बीच दर्ज किया जाता है। ग्रीन अलर्ट उस स्थिति में जारी किया जाता है, जब हालात एकदम सामान्य होते हैं। किसी प्रकार का जोखिम नहीं होता है। यह अलर्ट के बजाय एक सुकून भरा मैसेज होता है जो लोगों को बताता है कि अब प्रचंड गर्मी से राहत मिल गई है या मिलने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *