June 22, 2024

कानपुर। सोमवार सुबह 3:30 बजे एक दर्दनाक हादसे में गुना में एबी रोड पर मैना के पास एक मिनी ट्रक पलटने से कानपुर के चार लोगों की जान चली गई और चार अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। यह घटना मैना से लगभग आधा किलोमीटर दूर हुई और प्रारंभिक रिपोर्टों से पता चलता है कि ड्राइवर को नींद आ गई होगी, जिसके कारण ट्रक डिवाइडर को तोड़ता हुआ पुलिया से नीचे गिर गया।
दुर्घटना का विवरण

म्याना थाना प्रभारी संजीत माबई ने बताया कि मिनी ट्रक में चालक और क्लीनर सहित छह मजदूर सवार थे। तीन मजदूरों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मृतकों की पहचान इस प्रकार की गई है:

  • विष्णु (32 वर्ष) पुत्र रामपाल
  • मीर (30 वर्ष) पुत्र चोखेलाल
  • विकास (35 वर्ष)
  • रंजीत (25 वर्ष) पुत्र नत्थू सिंह

घायल और अस्पताल में भर्ती

हादसे में क्लीनर शाहरुख और ड्राइवर अशोक समेत नवाब नाम के शख्स समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें तुरंत इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। रायबरेली निवासी ड्राइवर अशोक को आगे की चिकित्सा के लिए ग्वालियर रेफर किया गया है।

चश्मदीद गवाह

ट्रक क्लीनर शाहरुख ने घटना के बारे में बताया, “हम फ़तेहपुर (उत्तर प्रदेश) से शुजालपुर (शाजापुर, मध्य प्रदेश) जा रहे थे। कालपी (जालौन, यूपी) से ट्रक में चढ़े मजदूर सो रहे थे, तभी ट्रक डिवाइडर से टकरा गया।” उन्होंने कहा कि वाहन में बाइक, खाना पकाने के बर्तन और कपड़े सहित निजी सामान थे, जो दुर्घटना के कारण बिखर गए।

प्रतिक्रिया और तत्काल कार्रवाई

स्थानीय अधिकारी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और घायलों को अस्पताल पहुंचाया। मृतकों और घायलों के परिवारों को सूचित कर दिया गया है और वे गुना जा रहे हैं। पुलिस दुर्घटना के कारणों की जांच कर रही है, प्रारंभिक आकलन संभावित कारण के रूप में ड्राइवर की थकान की ओर इशारा कर रहा है।

समुदाय और आधिकारिक प्रतिक्रियाएँ

इस दुर्घटना से कानपुर समुदाय में काफी संकट पैदा हो गया है, जहां मृतक मजदूर रहते थे। स्थानीय नेता और समुदाय के सदस्य भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओं को रोकने के लिए बेहतर सुरक्षा उपायों और सख्त नियमों का आग्रह कर रहे हैं।

यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना सड़क सुरक्षा के महत्व और ड्राइवरों के लिए यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर प्रकाश डालती है कि उन्हें लंबी यात्रा से पहले अच्छी तरह से आराम मिले। हमारी संवेदनाएं इस त्रासदी से प्रभावित परिवारों के साथ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *