July 21, 2024

कानपुर। बारिश के चलते कई अन्‍तर्राष्‍ट्रीय व घरेलू मैचों को बाधित करने वाले ग्रीनपार्क के ड्रेनेज सिस्टम को भी ड्रेनेज करने करने के लिए सुधार की आवश्य‍कता आन पडी है। लगभग 38 लाख की लागत से निर्मित स्टेडियम के क्रिकेट मैदान का ड्रेनेज पूरी तरह से डैमेज हो चुका है। ग्रीनपार्क मैदान में ड्रेनेज सिस्टम साल 2018 में यूपीसीए की ओर से लगवाया गया था। इसके बाद यहां पर टेस्ट मैच और लीजेन्ड वर्ल्ड कप सीरीज के अलावा यूपीपीएल और रणजी ट्राफी के मैच बारिश के चलते पूरी तरह से बाधित रहे थे। गौरतलब है कि ग्रीनपार्क में बारिश के दौरान पानी भर जाता था और मैचों के दौरान यदि मैदान पर पानी रह जाता था तो उसे निकालने में एक से दो दिन का समय लग जाता था। हालांकि ग्रीनपार्क में ड्रेनेज सिस्टम लगने के बाद पानी की निकासी में समय कम लगता है लेकिन फिर भी इतना समय से नही निकल पाता कि मैच को उसी दिन शुरु करवाया जा सके।
बतातें चलें कि ग्रीनपार्क में ड्रेनेज सिस्टम के साथ ही मैदान के रेनोवेशन का काम भी किया गया था जिसमें पिच से बाउन्ड्री की ओर लगभग 1 से डेढ फीट तक ढलान कर पानी की निकासी के रास्ते बनाए गए थे लेकिन ये नालियां इतनी गहरी नही बनवायी गयी जिससे पानी तेजी के साथ आसानी से निकल सके। मैदान को एक एक तरफ से खोदकर सैंड बेस्ड का काम किया गया था बीते कई सालों पूर्व भी सैंड बेस्ड तकनीक की कमी के चलते सितंबर में ही इंडिया ग्रीन व इंडिया ब्लू का दिलीप ट्राफी का मैच धुल गया था। मैदान में डायरेक्टर पवेलियन से लेकर सी बालकनी तक जमकर जल भराव हो गया था जो अभी भी इसी समस्‍या से जूझ रहा है। इसमें बारिश के कारण मैदान कम सैंड के चलते सूख नहीं सका और मैच ड्रा रहा था। पूरे मैदान को सैंड बेस्ड करने के साथ-साथ घास और पुराने पवेलियन की अभ्यास विकेटों को भी दुरुस्त करने का काम भी एक के बाद एक मैदान को ढलान युक्त बनावाया गया था लेकिन निवर्तमान विकेट निर्माणकर्ता और कुछ पदाधिकारियों की कमीशन वाली मिलीभगत से मैदान का ड्रेनेज सिस्टम अभी तक उसको दुरुस्त करवाने की कहानी बयां कर रहा है। बतातें चलें कि अभी तक ग्रीनपार्क में जितने भी मैच बारिश के कारण हुए हैं वह सभी अगस्त और सितम्बर महीने में ही खेले गए है और मैदान से पानी न निकल पाना उसकी मुख्य वजह रही है। गौरतलब है कि बांग्लादेश के खिलाफ होने वाला टेस्ट मैच भी सितम्बर के आखिरी सप्ताह में ही खेला जाएगा। यदि उस दौरान भी तीन से चार घन्टे अगर बारिश हुयी तो इस ड्रेनेज सिस्टम के चलते मैदान तो समय से सूखने से रहा। अभी तक यूपीसीए के किसी भी अधिकारी ने इस बात की सुध नही ली है इस बारे में यूपीसीए के एक पदाधिकारी ने बताया कि अगले सप्ताह संघ के अध्यक्ष निधिपति सिंहानियां के ग्रीनपार्क आने की सम्भावना है उनको इस स्थिति से अवगत करवा दिया जाएगा।उन्होंने यह भी बताया कि ड्रेनेज सिस्टम को दुरुस्त करवाने की पहल भी उन्ही के माध्यम से करवाने का प्रयास किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News