?> आईआईटी की क्यूएस वर्ल्ड रैंकिंग में दूसरे स्थान पर। » Azad Samachar

आईआईटी की क्यूएस वर्ल्ड रैंकिंग में दूसरे स्थान पर।

संवाददाता।

कानपुर। नगर में आईआईटी की क्यूएस वर्ल्ड रैंकिंग में तेजी से सुधार हो रहा है। वर्ष 2023 में जहां पर आईआईटी कानपुर की  278वीं  रैंकिंग थी, लेकिन इस बार 93वीं रैंक हासिल की है। इससे एक बात तो साफ है कि आईआईटी के शैक्षणिक ग्राम में इंटरनेशनल लेवल पर तेजी से सुधार हो रहा है। वहीं दूसरी तरफ आईआईटी ने विषय के आधार पर 2024 क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में 36वां स्थान हासिल किया है। जबकि इंडिया में दूसरे पायदान पर है। सार्वजनिक और निजी दोनों संस्थाओं के साथ महत्वपूर्ण सहयोग के माध्यम से अपनी एआई-संचालित पहल को बड़े उत्साह के साथ आगे बढ़ा रहा है। एक उल्लेखनीय साझेदारी सैमसंग आरएंडडी इंस्टीट्यूट, नोएडा के साथ है, जिसे पांच साल के लिए एमओयू किया गया है। इसका उद्देश्य आईआईटी कानपुर के छात्रों, फैकल्टी और सैमसंग इंजीनियरों से जुड़े ज्वाइंट रिसर्च को बेहतर बनाना है। इसके अलावा, आईआईटी कानपुर एआई के माध्यम से टेलीमेडिसिन को बढ़ाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के साथ साझेदारी करके संस्थान के आगामी मेडिकल स्कूल द्वारा अपने एआई-संचालित प्रयासों को आगे बढ़ा रहा है। संस्थान ने पिछले साल आर्टफिशल इन्टेलिजन्स में नवाचार और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए ई-कॉमर्स दिग्गज मोग्लिक्स के साथ भी हाथ मिलाया है। आईआईटी कानपुर ने 2024 में 93वीं वैश्विक क्यूएस रैंक हासिल करते हुए भारत में इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नॉलजी में अपना 5वां स्थान बरकरार रखा है। कंप्यूटर साइंस में, 96 से 84वें स्थान पर पहुंच कर, राष्ट्रीय स्तर पर तीसरा स्थान प्राप्त हुआ, जबकि इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में यह 96वें स्थान पर रहा, और भारत में 5वां स्थान प्राप्त किया। गणित में, 122 से 106 तक उल्लेखनीय सुधार हुआ है, जिससे भारत में दूसरा सर्वश्रेष्ठ संस्थान का स्थान हासिल हुआ है। नेचुरल साइंस के अंतर्गत, यह 248 से 215 तक प्रगति की और राष्ट्रीय स्तर पर अपना 5वां स्थान बरकरार रखा। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में, संस्थान 121 से 101 पर पहुंच गया है और भारत में 6वें स्थान पर है, जबकि सिविल इंजीनियरिंग में यह 101-150 बैंड से 51-100 बैंड पर आ गया है। विभिन्न क्षेत्रों में आईआईटी कानपुर का असाधारण प्रदर्शन इसके विश्व स्तरीय शैक्षणिक माहौल को दर्शाता है। उत्कृष्टता के प्रति यह समर्पण शीर्ष प्रतिभाओं को आकर्षित करता है और संस्थान को भारतीय और वैश्विक उच्च शिक्षा के भविष्य को आकार देने में अग्रणी स्थान पर रखता है। संस्थान अनुसंधान और नवाचार पर ध्यान केंद्रित करता है और यह सुनिश्चित करता है कि यह वैज्ञानिक और तकनीकी प्रगति में सबसे आगे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *