?> यूपी टीम में प्रवेश के दरवाजे खोलने का काम करेगी प्रीमियर लीग » Azad Samachar

यूपी टीम में प्रवेश के दरवाजे खोलने का काम करेगी प्रीमियर लीग

प्रदर्शन के आधार पर चयन करना अब होगा आसान

टी-टवेन्टी के लिए प्रदेश के कोने-कोने से निकलेंगे अब खिलाडी


कानपुर। साल 2007 में भारतीय सरजमीं पर टी-20 क्रिकेट की शुरुआत अब देश के हर गली मोहल्ले में पूरी तरह से छा चुकी हे। फटाफट क्रिकेट का क्रेज देखते हुए उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ ने भी साल 2023 में यह बडा कदम उठाने की हिम्म्त दिखायी और लगभग 150 खिलाडियों के पूल को टी-टवेन्टी क्रिकेट का उपहार दे दिया वह भी अन्तर्राष्ट्र्रीय स्तर का। यूपीसीए के इस उठाए हुए कदम से हर क्रिकेटर के चेहरे पर मुस्कान दौड पडी है। हर क्रिकेटर को अब उम्मीद भी हो चली है कि इस प्लेटफार्म से खिलाडियों को क्रिकेट की नई ट्रेन में उन्हे जल्द ही सवारी करने का भी मौका मिल सकेगा। यूपीसीपीएल का आयोजन टीमों में प्रवेश के लिए दरवाजे खोलने का काम करेगा। इसके आयोजन से अब प्रदेश के हर कोने से खिलाडियों का जन्म‍ होगा जबकि प्रदेश के लिए टीम चुनने वाले चयनकर्ताओं को खिलाडियों के प्रदर्शन के आधार पर टीम चुनना भी और आसान हो जाएगा।
यूपीसीपीएल से प्रदेश भर के युवा खिलाड़ियों को अपने हुनर का प्रदर्शन करने का सुनहरा मौका दे दिया है। इस में धमाल मचाकर कई प्लेयर्स को प्रदेश की टीम में जगह बनाने का मौका मिल सकेगा। प्रदेश की इस लीग ने कई पूर्व क्रिकेटरों को भी नए खिलाडियों की प्रतिभा का अवलोकन करने का अवसर प्रदान कर दिया है। इस लीग में नए और युवा बल्लेंबाज शतक जडकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं तो उदीयमान तेज व स्पिन गेंदबाज भी क्रिकेट के आकाश पर सितारा बनकर अपनी चमक बिखेर रहें हैं।
लीग में देश के लिए खेल चुके भुवनेश्वर कुमार और नितीश राणा जैसे खिलाडियों के साथ युवा क्रिकेटर ड्रेसिंग रूम शेयर कर रहे हैं जिससे भी उनको क्रिकेट की बारीकियां सीखने का अवसर मिल रहा है। आईपीएल की कामयाबी के बाद अब हर देश ने अपनी लीग की शुरुआत कर दी है, मशहूर टी-20 लीग दिन-दोगुनी और रात चौगुनी तरक्की कर रही है। उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ की इस बहुप्रतीक्षित टी-टवेन्टी लीग में अपना बेहतर प्रदर्शन कर खिलाडियों को टीम में स्थान पाने को लेकर आशा की अलख जग चुकी है तो वहीं नगर में क्रिकेट की बयार एक बार फिर से पुराने स्वरूप में बहने लगी है। इस बारे में यूपीसीए के पूर्व सचिव प्रदीप गुप्ता ने बताया कि इस लीग की प्रस्तावना साल 2019 से बन रही थी लेकिन अब जाकर मुकम्‍मल हो पा रही है। उन्होंने बताया कि इससे नए व उदीयमान क्रिकेटरों का भविष्य उज्जवल हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *