July 21, 2024

–असली नोटों के बीच में कागज की गडडी थमा टप्पेबाज हुए फरार।

–26 लाख के जेवर के बदले दिऐ गए रुपयों का बैग।

कानपुर। टप्पेबाजों के एक गैंग ने नगर के सर्राफा कारोबारी से फिल्मी स्टाइल में कागजों की गडडी पर ऊपर और नीचे असली नोट लगाकर जेवर खरीद डाले और ठगी का शिकार बना डाला। खुद को अहमदाबाद की एक गोल्ड फर्म का मालिक बताकर शातिर टप्पेबाजों ने नयागंज के सर्राफा व्यापारी से 26 लाख रुपये के जेवर ठग लिए। सीसामऊ में जेवर लेने पहुंचे शातिरों ने रुपयों से भरा जो बैग दिया, उसमें ऊपर-नीचे तो नोट थे, बीच में कागज की गड्डी थी। पीड़ित ने जब सूचना दी, तो जांच के बजाय पुलिस सीमा विवाद में उलझी रही।पीड़ित अजीत ओमर के मुताबिक पार्टी ने कानपुर में माल की डिलीवरी लेने और पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर करने की बात कही। गुरुवार को माल सीसामऊ में मंगवाया, जहां उनका आदमी पहले से मौजूद था। अजीत के कर्मचारी ने जेवर दिए, तो शातिर ने नेटवर्क डाउन होने का हवाला देकर नकद रुपये देने की बात कही।विष्णुपुरी निवासी अजीत ओमर की नयागंज में सर्राफे की दुकान है। उन्होंने बताया कि आठ दिन पहले उनके पास फोन आया और फोन करने वाले ने अहमदाबाद के नवकर गोल्ड फर्म का मालिक मनोज जैन बताकर सोने के जेवरात लेने की बात कही। जेवर पसंद करने के बाद 26 लाख का बिल बना।अजीत ओमर के मुताबिक पार्टी ने कानपुर में माल की डिलीवरी लेने और पैसे ऑनलाइन ट्रांसफर करने की बात कही। गुरुवार को माल सीसामऊ में मंगवाया, जहां उनका आदमी पहले से मौजूद था। अजीत के कर्मचारी ने जेवर दिए, तो शातिर ने नेटवर्क डाउन होने का हवाला देकर नकद रुपये देने की बात कही। अजीत मान गए, तो शातिर के साथियों ने ऊपर व नीचे असली नोटों के बीच सादे कागज रखकर बैग कर्मचारी को टिका दिया और जेवरात का बैग ले गए। ठगी पर अजीत ने फौरन अपने संगठन के लोगों को जानकारी दी। कानपुर महानगर सर्राफा एसोसिएशन के अध्यक्ष पंकज अरोड़ा ने बताया कि जब उन्होंने इस घटना के बारे में ग्रुप में डाला, तो एक अन्य ज्वेलर भी संपर्क में आए, जिन्हें ठगने का प्रयास किया गया। पंकज अरोड़ा के मुताबिक कलक्टरगंज थाना प्रभारी को जानकारी दी गई, तो उन्होंने घटनास्थल सीसामऊ बता दिया। वहीं सीसामऊ पुलिस मामला कलक्टरगंज का बताने में जुटी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News