July 21, 2024

 –पुलिस ने छेड़खानी में दर्ज की छात्र के खिलाफ भी  क्रॉस एफआईआर

कानपुर। शुक्रवार की शाम अपने फार्म हाउस में अधिवक्ता द्धारा डी फार्मा छात्र के अपहरण कर बन्धक  बनाकर पिटाई वाले मामले में पुलिस बैकफुट पर आ गयी है। जहां शनिवार को पुलिस छात्र के परिवार के साथ हितैषी बनी दिखायी दे रही थी वहीं रविवार को अधिवक्ताओं के दबाव में छात्र पर युवती के साथ छेडखानी करने की क्रास एफआईआर पंजीकृत कर मुकदमा दर्ज कर लिया है। लायर्स एसोसिएशन  में पदाधिकारी रहे चके युवती के पिता पर पुलिस मेहरबान दिखी जहां उन्होंने थाने में उनको हवा करने के लिए फर्राटे का इन्त‍जाम किया। फर्राटा पंखा के सामने आराम से पैर-पर-पैर चढ़ाए बैठे देखे जा सकते हैं। यही नही वह थाने से निकल कर वकीलों और नजदीकियों को कुछ निर्देश देते भी देखे जा रहें है। शनिवार को वकीलों के बवाल के बाद पुलिस कमिश्नर के आदेश पर आईसीयू में भर्ती छात्र के खिलाफ ही छेड़खानी समेत कई गंभीर धाराओं में क्रॉस एफआईआर दर्ज की गई। मामला शुक्रवार शाम का है जब वकील ने अपनी बेटी के साथ छात्र को कोल्ड ड्रिंक पीते देखा। उसने छात्र को बंधक बनाकर बेरहमी से पीटा। मामला बढ़ा तो वकील ब्रजनारायन निषाद और बड़े भाई तेजनारायन निषाद के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। कोर्ट में पेश करके उन्हें जेल भेजा गया। बिठूर थाने में आरोपी बृज नारायण और उसके भाई को फर्राटा पंखा लगाकर आराम से बैठाया गया। बिठूर थाने में आरोपी बृज नारायण और उसके भाई को फर्राटा पंखा लगाकर आराम से बैठाया गया। आरोपियों की पैरवी करने के लिए यहां आए थे। अधिवक्ताओं के दबाव को देखते हुए पुलिस ने आरोपी बृज नारायण की पत्नी को हिरासत से छोड़ दिया। आरोपी थाने के अंदर फोन पर बात करके अपने केस को मैनेज कर रहा था। बाहर निकलकर अपने साथी वकीलों और नजदीकियों को निर्देश दे रहा था। केस में आठ आरोपी शामिल थे, लेकिन अभी तक अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई। छात्र की इतनी बुरी तरह से पिटाई की गयी है कि  उसके पूरे शरीर पर नीले निशान पड़ गए हैं। छात्र के पिता केशव शर्मा ने बताया- शुक्रवार रात 9:30 बजे मेरा बेटा टहलने निकला था। इसी दौरान उसके जानने वाली लड़की मिल गई तो दोनों कोल्ड ड्रिंक पीने लगे। लड़की के वकील पिता ने देख लिया और उन्हें कुछ गलत लगा। इसके बाद वकील ने मेरे बेटे को अगवा करके बुरी तरह पीटा। कटरी के जंगल में बने फॉर्म हाउस में मेरे बेटे को बंधक बनाकर रखा था। मेरे बेटे को लोहे की रॉड, डंडे और बेल्ट से पीटा। प्लास से होठ, कान और नाखून नोचा। उनका हत्या का इरादा था। हमसे कह रहे थे कि एक घंटे के अंदर आ जाओ नहीं तो मारकर काटकर गंगा बैराज में डाल देंगे। मेरे पास जब धमकी देने वाले का फोन आया तो हम कानपुर देहात से सीधे बिठूर थाने पहुंचे। पुलिस को मामले की जानकारी दी। हम देर रात पुलिस के जरिए ही आरोपी तक पहुंचे। जब फॉर्म हाउस में पहुंचे तो मेरा बेटा कुर्सी पर रस्सी से बंधा हुआ था। पूरे शरीर पर चोट का निशान था, वो न खड़ा हो सकता था, न चल सकता था, यहां तक कि मेरा बेटा बोल भी नहीं पा रहा था। मेरे बेटे की सांसें टूट रही थी। ऐसा लग रहा था कि बस 5 से 10 मिनट में मेरे बेटे का दम निकल जाएगा। आरोपियों ने फोन किया तो उनसे 5 लाख रुपए की डिमांड भी की गई थी। अगर एक घंटे में रुपए और तुम लोग नहीं पहुंचे तो बेटे के टुकड़े-टुकड़े करके गंगा में फेंक देंगे। मेरे बेटे के पूरे शरीर में चोट है। कोई ऐसी जगह नहीं जहां पर चोट न हो। क्या इन लोगों के बच्चे नहीं हैं, जो मेरे बेटे के साथ ऐसा व्यवहार किया। मेरे बेटे ने कुछ गलत नहीं किया, सिर्फ उनकी बेटी के साथ टहल रहा था।छात्र की मां ने आरोपी अधिवक्ता पर हत्या के प्रयास के साथ ही 5 लाख की फिरौती मांगने का भी आरोप लगाया है। छात्र की मां ने आरोपी अधिवक्ता पर हत्या के प्रयास के साथ ही 5 लाख की फिरौती मांगने का भी आरोप लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News