July 20, 2024

यूपी टी-20 लीग का 10.31 करोड़ अभी तक नही किया गया जमा 

 कानपुर। ग्रीन पार्क में बीते साल 29 अगस्त से 17 सितम्बर के बीच खेली यूपी टी-20 लीग के सफल आयोजन के बाद भी खेल विभाग को लीग का किराया जमा न कर पाना कहीं यूपीसीए के लिए भारी मुसीबत न खडी कर दे। 27 सितम्बर से बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच की अनुमति बिना शुल्‍क अदायगी के मुमकिन ही नही दिखायी दे रही है। खेल विभाग ने शासन को कई बार शुल्क अदायगी के लिए पत्र भेजकर जानकारी प्रदान की है। उत्तर प्रदेश के ग्रीन पार्क में हुई यूपी टी-20 लीग कराने के 10.31 करोड़ रुपए उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन ने अभी तक खेल विभाग के पास नही जमा करवाए हैं। शासन ने खेल निदेशालय से 50 फीसदी शुल्क में छूट देने का कारण पूछा था इसके बाद विभाग ने अपनी रिपोर्ट भी शासन को भेज दी थी जिसपर शासन ने मैच का शुल्क आधा जमा करवाने के निर्देश भी जारी कर दिए थे। दिसम्बर में जारी निर्देश के बाद भी यूपीसीए ने अभी तक इसपर अपनी कोई प्रतिक्रिया जाहिर तक नही की है।  टिकट की बिक्री समेत अन्य ब्योरा मांगा गया था इसके बाद खेल निदेशालय ने ग्रीन पार्क प्रशासन से पूरी रिपोर्ट तलब की थी।. इसमें यूपी की छह टीमों ने भाग लिया था।. यूपीसीए को ग्रीन पार्क में प्रति मैच खेल निदेशालय को 25 लाख की धनराशि देना निर्धारित किया गया है, उसके हिसाब से यूपीसीए को खेल विभाग को 10.31 करोड़ रुपए देने थे, जिसे नहीं दिया गया है। यूपीसीए की ओर से शासन से 50 फीसदी छूट मैच फीस में मांगी थी। लीग खत्म हुए 10 महीने से भी अधिक बीतने के बाद अब शासन एक बार फिर से सक्रिय हो गया है।चूंकि अब अगले दो महीनों के  बाद यहां पर टेस्ट मैच का आयोजन किया जाना है और ग्रीन पार्क को एक बार फिर से यूपीसीए को चाहिए तो किराया भी जमा करना होगा। अगर यूपीसीए ने पिछला बकाया जमा नही करवाया तो टेस्ट मैच के लिए मैदान आवन्टित होने में दुश्वारियां अवश्य  पैदा होंगी। चूंकि खेल विभाग यूपीसीए को बराबर  पत्र भेजकर टी-20 लीग का पैसा जमा करवाने की बात कहता आ रहा है। शासन ने माना कि अधिकतम 50 फीसदी तक छूट देना ठीक नहीं है।. यूपीसीए के मुताबिक कानपुर के ग्रीन पार्क में हुए इस आयोजन में आईपीएल की तरह बीसीसीआई से कोई आर्थिक सहायता नहीं मिली।. इसके साथ ही टिकट की बिक्री भी नहीं हो सकी थी इसके अलावा  टीवी प्रसारण से भी कोई धनराशि नहीं ली गई।ग्रीनपार्क के डिप्टी डायरेक्टर आरएन सिंह ने बताया कि शासन को धनराशि के संबंध में एक बार फिर से अवगत करवाया गया है। यूपीसीए को लीग का शुल्क जमा करवाए बिना अब आगे मैदान की बुकिंग नही की जाएगी। उन्होनें बताया कि निदेशालय इस इस पर अंतिम निर्णय लेगा कि वह बिना शुल्क जमा करवाए टेस्ट मैच के लिए किन शर्तों पर मैदान संघ को आवन्टित करना है।

फ़ोटो। 1दोपहिया वाहन चोरी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार

2 यूपी टी-20 लीग के बकाए पैसे कहीं डाल न दे टेस्ट में बाधा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News