July 21, 2024

—- स्वरूप नगर समेत 3 स्थानों पर टीम ने की नाप-जोख।

कानपुर। नगर की जमीनों पर नजर गडाए लोगों पर अब गृह मन्त्रालय की नजर टेढी हो चली है शत्रु संपत्तियों में घोषित हो चुकी जमीनों की जांच के लिए दिल्ली  की टीमों ने नगर में डेरा डाल दिया है। इसी कडी में शुक्रवार को गृह मंत्रालय की टीम ने कानपुर पहुंच कर शत्रु संपत्तियों की जांच शुरू कर दी है। टीम ने सबसे पहले स्वरूप नगर पहुंचकर शुत्र संपत्तियों की जांच शुरू की। यहां गेस्ट्रो लीवर हॉस्पिटल से लेकर कॉनकार्ड अपार्टमेंट तक टीम ने जमीन की नाप की। वहीं टीम एक एड्रेस को भी तलाश रही है। टीम के साथ मौजूद एसीएम रामानुज ने बताया कि गृह मंत्रालय में तैनात संयुक्त सचिव शुत्र संपत्ति की जांच के लिए कानपुर पहुंचे हैं। स्वरूप नगर, गोकुल अपार्टमेंट, बाबा बिरयानी राम जानकी मंदिर, जाजमऊ स्थित पायनियर टेनरीज की भी टीम जांच करेगी। नक्शे के माध्यम से टीम ने जगह चिन्हित की है। देश छोड़कर पाकिस्तान व बांग्लादेश में रहने वालों की करोड़ों रुपये की शत्रु संपत्तियों पर अब कब्रिस्तान संचालित हैं या तो फ्लैट या आलीशान मकान बन गए हैं। कुछ का रिहायशी परिसर के रूप में प्रयोग हो रहा है। इन संपत्तियों को लेकर भारत सरकार संजीदा है। पिछले दिनों शिकायत के बाद आबिद रहमान व आमना खातून की संपत्तियों की जांच करने गृह मंत्रालय की टीम शहर आई थी। किरायेदारों को ब्यौरा भी एकत्र किया जा रहा है।वहीं, इन संपत्तियों के किरायेदारों का ब्योरा एकत्र किया जा रहा है। भविष्य में कुछ की नीलामी भी संभव है। जिले में 12 संपत्तियों को अब तक शत्रु संपत्ति घोषित करने के साथ पाक नागरिक शाहिद हलीम की 13 संपत्तियों पर कार्रवाई चल रही है। शाहिद की संपत्तियों के संबंध में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी जानकारी मांगी थी। नौ संपत्तियों का मूल्यांकन भी कराया जा चुका है। इनमें चार संपत्तियां पाक नागरिक एस हुमायूं नजर की हैं। जिनमें जाजमऊ की पायनियर टेनरीज, उसका रिहायशी परिसर, हीरामन का पुरवा रिहायशी परिसर व गोकुल अपार्टमेंट का फ्लैट शामिल है। तीन संपत्तियां पाक नागरिक तज्जमल हुसैन की हैं, जो ग्वालटोली में हैं। दो संपत्तियां घाटमपुर में हैं, जो नवाब पुत्र पीरा के नाम हैं।अभिरक्षक के निर्देश पर इन संपत्तियों की कीमत का आंकलन जून 2022 में कराया गया था। यह सभी संपत्तियां अभिरक्षक के नाम पर दर्ज हो चुकी हैं। हुमायूं की जाजमऊ व हीरामन का पुरवा स्थित टेनरीज व अपार्टमेंट समेत चारों संपत्तियों की कीमत 50 करोड़ रुपए से अधिक है। इसी तरह पाक नागरिक तज्जमल हुसैन की ग्वालटोली स्थित तीनों संपत्तियों की कीमत लगभग साढ़े छह करोड़ रुपये आंकी गई है। घाटमपुर के भदरस गांव में नवाब के नाम पर दो जगह जमीनें हैं। इनमें नवाब के साथ 32 सह खातेदार हैं। इनकी कीमत लगभग 30 लाख रुपये है, जहां एक में कब्रिस्तान संचालित हो रहा है। जिला प्रशासन ने जुलाई 2022 में कंघी मोहाल स्थित भवन को शत्रु संपत्ति घोषित किया है। बेकनगंज स्थित राम जानकी मंदिर ट्रस्ट व नाला रोड स्थित दारुल मौला के संबंध में कार्रवाई के लिए अपनी पूरी रिपोर्ट के साथ फाइल अभिरक्षक को भेज दी थी। जनवरी 2023 को इन्हें शत्रु संपत्ति घोषित करने के निर्देश दिए गए थे। राम जानकी मंदिर परिसर में ही कानपुर हिंसा के मुख्य आरोपी मुख्तार बाबा की बाबा स्वीट यानी बाबा बिरयानी समेत सभी छह दुकानों को सील किया गया था। बाकी जगह भी कार्रवाई चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News