June 22, 2024

संवाददाता।

कानपुर। नगर में कृषि विभाग के 3 अफसर (कृषि अधिकारी, कृषि रक्षा अधिकारी और भूमि संरक्षण)  कंडम गाड़ियों के नंबर पर डीजल का पैसा लेने के मामले में दोषी पाए गए हैं। डीडीओ गजेंद्र प्रताप सिंह ने जांच कर रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपी थी। उन्होंने अधिकारियों को दोषी मानते हुए रिपोर्ट शासन को भेज दी है। अब शासन स्तर से कार्रवाई होगी। जिला कृषि अधिकारी अमर सिंह ने बीते दिनों अपने उच्च अधिकारियों पर मानसिक उत्पीड़न करने और कार्यालय के कार्यों में सहयोग न करने का आरोप लगाकर इस्तीफा पत्र निदेशालय भेज दिया था। साथ में उच्च अधिकारियों की मिलीभगत से कंडम गाड़ियों के नंबर पर डीजल का पैसा निकलवाने का आरोप भी लगाया था। अधिकारी का इस्तीफा  वायरल होते ही विभाग में हड़कंप मच गया। शासन ने जिलाधिकारी राकेश कुमार को जांच करने के निर्देश दिए थे। जिलाधिकारी ने डीडीओ से मामले की जांच कराई। जिसमें भूमि संरक्षण अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, कृषि रक्षा अधिकारी  नियमों के विपरीत जाकर कंडम गाड़ियों को चलता दिखाकर डीजल का पैसा लेते रहे। यही नहीं उपनिदेशक कृषि अरूण कुमार भी बिना जांच किए बिलों को भुगतान करते रहे। डीडीओ ने अपनी जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपी थी। हालांकि डीडीओ ने अपनी रिपोर्ट में ये कहीं जिक्र नहीं किया कि इन अधिकारियों ने कितना पैसा डीजल के नाम पर लिया। इस रिपोर्ट को शासन भेज दिया गया है। मामले में डीएम राकेश कुमार सिंह ने बताया कि डीजल घोटाले में तीनों अफसर दोषी पाए गए हैं। कंडम गाड़ियों के नंबर पर पैसा लेते रहे हैं जो नियमों के विपरीत है। शासन को रिपोर्ट भेज दी है। वहीं से कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *