June 21, 2024

संवाददाता।
कानपुर।नगर में हाल के दिनों में हुई लगातार बारिश के कारण शहर में डेंगू के मामलों में वृद्धि हुई है। पिछले कुछ दिनों में दो व्यक्ति, कृष्णा नगर की एक 12 वर्षीय लड़की और नयागंज की एक 16 वर्षीय लड़की, पहले से ही डेंगू से प्रभावित थे। सोमवार को वरुण विहार की 23 वर्षीय महिला भी इस बीमारी का शिकार हो गई। उन्हें कई दिनों से बुखार आ रहा था, जिसके चलते उन्हें मेडिकल जांच कराने के लिए कहा गया। स्वास्थ्य विभाग की टीमें सक्रिय रूप से विभिन्न क्षेत्रों से नमूने एकत्र कर रही हैं ताकि इसे और फैलने से रोका जा सके। शहर में एक सप्ताह के अंदर डेंगू के नौ मामले सामने आ चुके हैं। अस्पतालों ने विशेष देखभाल की सुविधा के लिए डेंगू रोगियों के लिए अलग वार्ड नामित किए हैं। कानपुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) आलोक रंजन व्यवस्थाओं को सुव्यवस्थित करने के लिए अधिकारियों के साथ सक्रिय रूप से समन्वय कर रहे हैं। उन्होंने सभी अस्पतालों को डेंगू के किसी भी मरीज की जानकारी तुरंत यूडीएस पोर्टल पर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। यह पहल स्वास्थ्य विभाग की टीमों को प्रभावित क्षेत्रों में निरीक्षण करने और निवारक उपाय करने की अनुमति देगी। स्वास्थ्य विभाग की टीमें ग्रामीण इलाकों में घर-घर जाकर लोगों को डेंगू के कारणों और उसकी रोकथाम के बारे में जानकारी दे रही हैं। वे विभिन्न स्थानों पर जमा पानी का परीक्षण भी कर रहे हैं और धूम्रीकरण की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित कर रहे हैं। सीएमओ आलोक रंजन ने सभी अस्पतालों को निर्देश दिया है कि वे डेंगू के मरीजों के लिए अलग वार्ड आवंटित करें और किसी भी दवा की कमी होने पर अधिकारियों को तुरंत सूचित करें, ताकि मरीजों को उचित इलाज मिले। डेंगू के रोगियों का इलाज करने के अलावा, डॉक्टर रोगियों और देखभाल करने वालों दोनों को निवारक उपायों के बारे में शिक्षित करने के लिए भी जिम्मेदार हैं। हाल के दिनों में भारी बारिश के कारण वायरल बुखार तेजी से फैल रहा है, जिससे शहर भर के घर प्रभावित हो रहे हैं। कानपुर मेडिकल कॉलेज ने प्रतिदिन 40% बुखार रोगियों की आमद की सूचना दी है, लोगों से आग्रह किया गया है कि यदि बुखार बना रहता है तो तत्काल चिकित्सा सहायता लें। ऐसे मामलों में लापरवाही के गंभीर परिणाम हो सकते हैं। जैसे-जैसे डेंगू के मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है, स्वास्थ्य अधिकारी इसके प्रकोप को नियंत्रित करने और जनता को निवारक उपायों के बारे में शिक्षित करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वे आवश्यक सावधानी बरतें और डेंगू के लक्षणों का अनुभव होने पर तुरंत चिकित्सा सहायता लें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News